• nationbuzz3

महंगाई की मार पिछले कई दिनों में बढ़े गैस सिलेंडर के दाम, खातों में नहीं आ रही सब्सिडी


खबर देश। तंग अर्थव्यवस्था से निजात पाने के लिए सरकार ने लोगाें की जेब पर धावा बोल दिया है। घरेलू गैस से लेकर कामर्शियल प्रयोग वाले सिलिंडर के दामोें में 28 दिनों में चार बार बढ़ोत्तरी की है। इससे लोगों की रसाई का बजट गड़बड़ा गया है। घरेलू गैस केदामों में बढ़ोत्तरी के साथ सरकार ने सब्सिडी जस की तस रखी है। पेट्रोलियम कंपनी के अधिकारियों के मुताबिक घरेलू सिलिंडर पर सब्सिडी में कोई इजाफा नहीं किया गया है। लोगों ने बताया सिलिंडर की सब्सिडी खातों में आना भी बंद हो गई है यूपी में भी सिलिंडर के दाम उछाल।



पेट्रोलियम मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक गैस सिलिंडर के दामों में तीन फरवरी, 14 फरवरी और 25 फरवरी को वृद्धि की गई थी। सोमवार एक मार्च को भी 25 रुपये का इजाफा कर दिया है। इसके पहले भी घरेलू गैस सिलिंडर पर तीन फरवरी, 14 फरवरी और 25 फरवरी को भी 25-25 रुपये दाम बढ़ाया गया था। जबकि, सब्सिडी 48 रुपये ही फिक्स है।


14.2 किलोग्राम की तरह पांच किलोग्राम वाले सब्सिडी वाले सिलिंडर का दाम भी बढ़ा है। पेट्रोलियम कंपनियों की रिपोर्ट के मुताबिक तीन फरवरी को पांच किलोग्राम वाला घरेलू गैस सिलिंडर 285 रुपये का मिल रहा था, जो कि एक मार्च को 36 रुपये बढ़कर 321 पहुंच गया। जबकि, कामर्शियल गैस सिलिंडर पर कुल 81 रुपये की बढ़ोत्तरी हुई है। तीन फरवरी को 19 किलोग्राम वाला कामर्शियल सिलिंडर 1640 रुपये का था जो एक मार्च को कुल 81 रुपये बढ़कर 1721 रुपये पहुंच गया। एलपीजी फेडरेशन एसोसिएशन केराष्ट्रीय उपाध्यक्ष केपी मिश्रा ने कहा कि तीन फरवरी से लेकर अब तक कुल चार बार गैस सिलिंडर के दाम बढ़े हैं। एक मार्च को बढ़ा हुआ रेट लागू कर दिया गया है।


उधर, गैस सिलिंडर के दामों में लगातार वृद्धि होने से लोगों का आक्रोश बढ़ता जा रहा है। महिलाओं का कहना है कि इससे उनके रसोई का बजट भी गड़बड़ हो गया है। सरकार मनमाने तरीके से रेट बढ़ा रही है। इससे आर्थिक रुप से कमजोर वर्ग केलोगों का खाना भी मुहाल होता जा रहा है।