• nationbuzz3

प्रधानमंत्री ने जारी की किसान सम्मान निधि योजना 2021 की दूसरी किस्त, ट्रांसफर किए 19,500 करोड़


खबर देश। नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-KISAN) योजना के तहत, 2000 रुपये की किस्त 9.75 करोड़ से अधिक लाभार्थी किसान परिवारों को ट्रांसफर किया. इन किसानों के खातों में 19,500 करोड़ रुपये से अधिक की धनराशि का हस्तांतरण किया गया है. वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आयोजित एक कार्यक्रम में एक क्लिक के माध्यम से लाभार्थियों के खाते में राशि सीधे हस्तांतरित की गई. प्रधानमंत्री ने आज राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन भी लॉन्च किया।


`प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आज 9.75 करोड़ किसानों के बैंक खातों में 19,500 करोड रुपए से ज्यादा की राशि ट्रांसफर की गई है. यह राशि छोटे किसानों के बहुत काम आएगी. 15 अगस्त आने वाला है. हम आजादी के 75 साल मनाने वाले हैं. अगले 25 साल में हमें यह तय करना होगा कि देश को कहां ले जाना है।


राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन की शुरुआत करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि खाने के तेल का उत्पादन बढ़ाना जरूरी है. देश को आत्मनिर्भर बनाने के लिए हमें इस दिशा में काम करना होगा. आज राष्ट्रीय खाद्य तेल मिशन का संकल्प लिया गया है. इस पर 11000 करोड़ से ज्यादा की राशि खर्च होगी. Palm Oil की खेती को विस्तार दिया जाएगा।


केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, कृषि राज्य मंत्रियों कैलाश चौधरी, शोभा करंदलाजे और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित कई राज्यों के मुख्यमंत्री भी इस कार्यक्रम में उपस्थित रहे।


समाचार एजेंसी पीटीआई-भाषा के मुताबिक, इस अवसर पर कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लिए भारत सरकार लगातार प्रयासरत है. उन्होंने कहा कि पीएम-किसान योजना इस दिशा में सफल और सार्थक सिद्ध हुई है. कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने किसान लाभार्थियों से संवाद भी किया।


पीएम-किसान योजना के तहत, पात्र लाभार्थी किसान परिवारों को 6000 रुपये प्रति वर्ष का वित्तीय लाभ दिया जाता है और इस वित्तीय लाभ को 2000 रुपये की तीन किस्तों में प्रत्येक चार माह में प्रदान किया जाता है. धनराशि को सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में हस्तांतरित किया जाता है।


प्रधानमंत्री कार्यालय ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत आज से पहले 1.38 लाख करोड़ रुपये से अधिक की सम्मान राशि किसान परिवारों के बैंक खातों में हस्तांतरित की जा चुकी है।