• Nationbuzz News Editor

ख़राब सिस्टम के चलते बिना खरीद दिखा दी यूरिया की खरीद, जांच में खुलासा


यूपी बदायूं। ख़राब सिस्टम के चलते जिले के 20 किसानों द्वारा 6857 बोरी यूरिया खरीदने के मामले में जांच पूरी हो गई है। सभी तहसीलों के एसडीएम ने रिपोर्ट कृषि विभाग को सौंप दी है। कृषि विभाग द्वारा रिपोर्ट तैयार कर डीएम के सामने पेश करेंगे। दोषी पाये जाने पर डीएम स्तर से कार्रवाई होगी। जिले के 20 किसानों ने एक अप्रैल से लेकर 30 जुलाई तक 6857 बोरी यूरिया खरीदी थी। 20 किसानों द्वारा इतनी बढ़ी मात्रा में यूरिया खरीदी जाने पर प्रशासन को गड़बड़ी की आशंका हुई तो डीएम कुमार प्रशांत ने यूरिया खरीद की जांच बैठा दी। जांच एसडीएम ने की। जांच में तमाम किसान ऐसे हैं, जिन्होंने यूरिया खरीदी ही नहीं और उनके नाम 400 से लेकर 500 कट्टे यूरिया खरीद दिखाई गई हैं। कुछ टैंपू चालक, तो कुछ घोड़ा बुग्गी चलाने वाले शामिल हैं। यह खेल दुकानदारों ने किया है। जिसका आधार हत्थे चढ़ गया उसके नाम पर यूरिया खरीद दिखाकर खुद महंगे दाम में ब्लैक करते रहे। डीएम यूरिया वितरण का हाल देखने समितियों और खाद की दुकानों पर पहुंच रहे हैं।


यूरिया खरीदने में अब्बल सालारपुर के किसान


सबसे ज्यादा मात्रा में यूरिया खरीदने वाले सालारपुर ब्लॉक के किसानों ने की है। सालारपुर क्षेत्र के छह किसानों की जांच एसडीएम सदर, आठ किसानों की जांच तहसीलदार सदर ने की। दो किसानों की जांच एसडीएम दातागंज, एक किसान की जांच एसडीएम सहसवान, दो किसानों की जांच एसडीएम बिसौली, एक किसान की जांच एसडीएम बिल्सी ने पूरी की। सभी ने जांच रिपोर्ट यूरिया खरीद जांच फार्मेट पर आख्या समेत दे दी है।


इन किसानों ने इतनी खरीदी यूरिया


बावट के निखिल ने 434, बरातेगदार के आर्येंद्र सिंह राठौर ने 557, डिलवारी के आशीम ने 462, सालारपुर के यंगपाल सिंह ने 409, मोंगर के पुष्पेंद्र सिंह 408, दुगरईया ब्राहम्मपुर के बफाती ने 400, सालारपुर के प्रमोद शर्मा ने 350, अवनेश कुमार 292, भगौतीपुर के रूपेंद्र 292, जलालपुर के अमर सिंह ने 269, सालारपुर के आशुतोष पाठक ने 255, नेत्रपाल ने 255, करतौली के शीलेंद्र यादव ने 246, बावट के हर्षित पटेल 241, बक्सेना के हरकेश ने 400, पप्पू ने 400, सहसवान के कुवंरपाल 313, निमठौली के दर्पण कुमार यादव ने 300, कशेर पनौटा के लालाराम ने 300, गुधनी की गीता ने 274 बैग यूरिया खरीदी है।


कट्टे लिए छह, दिखाए 400


सालारपुर ब्लॉक के गांव दुगरैया निवासी बफाती भूमिहीन हैं, लेकिन बफाती के नाम 400 बोरी यूरिया खरीद दिखाई गई है। एसडीएम को जांच में बताया कि छह कट्टे अपनी सास शबीना के लिए एग्री जंक्शन दुगरैया से खरीदे थे, बाकी यूरिया खरीद बिक्री केंद्र द्वारा फर्जी दिखाई है।


भूमिहीन टेंपो चालक ने खरीदी यूरिया


मोंगर के पुष्पेंद्र सिंह के नाम 408 कट्टे यूरिया किसान सेवा केंद्र श्यामनगर से खरीद दिखाई गई है। पुष्पेंद्र भूमिहीन है और वह टेंपो चलाकर गुजर बसर करता है। पूछताछ में उसने बताया के 150 कट्टे भाड़े पर किसानों को ले जाकर गांव में दिए हैं। दुकानदार ने उसका आधार ले रखा था और फर्जी तरीके से यूरिया खरीद दिखाई जा रही थी।


फर्जी दिखाई यूरिया खरीद


एग्री जंक्शन केंद्र सिलहरी से बाबट के निखिल पटेल के नाम 434 बोरी यूरिया खरीद दिखाई गई है। जबकि वह भूमिहीन है, उसने अपने पिता के नाम ढाई एकड़ भूमि के लिए 20 कट्टे यूरिया खरीदी है। जिसमें 15 बोरी लगा दी है, बाकी पांच बोरी बची हुई रखी हैं।


यूरिया खरीदने वाला गांव का ही नहीं


सालारपुर के यंगपाल ने प्रकाश ब्रादर्स नवादा के यहां से 409 कट्टे यूरिया खरीदी है। जब जांच अधिकारी गांव पहुंचे तो इस नाम का कोई व्यक्ति नहीं मिला। दुकानदार से जानकारी ली गई तो वह भी जांच अधिकारी को संतोषजनक जबाब नहीं दे सके, न ही कोई यूरिया खरीद से जुड़ा अभिलेख दिखा पाए। जांच रिपोर्ट में फर्जी बिक्री दिखाई गई है।


घोड़ा बुग्गी चलाने वाले ने ली यूरिया


सदर तहसीलदार को जांच में एक ऐसा व्यक्ति मिला, जो भूमिहीन है और घोड़ा बुग्गी चलाकर गुजर बसर करता है। खाद माफिया ने उसका आधार किसी तरह हासिल कर लिया, उसके नाम 300 कट्टे से अधिक यूरिया खरीद दिखाई है। घोड़ा बुग्गी चलाने वाले व्यक्ति ने जांच अफसर के सामने यूरिया लेने से इंकार कर दिया।


  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube