• nationbuzz3

मध्य प्रदेश में राहुल गांधी ने कहा, आरएसएस की विचारधारा ने अंग्रेजों की मदद की


खबर देश। मध्यप्रदेश में राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा दूसरे दिन 23 किलोमीटर चली। इस दौरान पहली बार यात्रा में प्रियंका गांधी शामिल हुईं। उनके साथ पति रॉबर्ट वाड्रा और बेटा रेहान भी पैदल चले। दूसरे दिन का आखिरी पड़ाव खंडवा का छैगांव माखन रहा। इससे पहले राहुल गांधी आदिवासी जननायक टंट्या मामा की जन्मस्थली पर पहुंचे। राहुल गांधी ने यहां एक सभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि आदिवासी इस देश के असली मालिक हैं। बीजेपी ने आदिवासियों को वनवासी कहा, इसके पीछे उनकी दूसरी सोच है। इसके लिए बीजेपी आदिवासियों से माफी मांगे।


राहुल गांधी ने कहा कि अंग्रेजों ने टंट्या मामा को फांसी पर चढ़ाया और आरएसएस की विचारधारा ने अंग्रेजों की मदद की। राहुल गांधी ने आरोप लगाया कि आदिवासियों पर सबसे ज्यादा अत्याचार मध्यप्रदेश में हो रहे हैं। ऐसा प्रदेश हमें नहीं चाहिए, हमें आदिवासियों को इज्जत और रक्षा देने वाला प्रदेश चाहिए।


इससे पहले गुरुवार को यात्रा की शुरुआत सुबह खंडवा के बोरगांव बुजुर्ग से शुरू हुई। लंच ब्रेक रुस्तमपुर में हुआ। यहां से राहुल गांधी कार से टंट्या मामा की जन्मस्थली बड़ोदा अहीर पहुंचे। यहां सभा को संबोधित करने के बाद दूसरे चरण की यात्रा डूल्हार फाटा के गुरुद्वारा साहिब से शुरू हुई। यात्रा का रात्रि विश्राम खरगोन जिले के खेरदा में है। शुक्रवार को यहीं से यात्रा आगे बढ़ेगी।


लंच ब्रेक के पहले सचिन पायलट भी राहुल गांधी के साथ यात्रा में शामिल हुए। हालांकि लंच ब्रेक के बाद पायलट नहीं दिखे। प्रियंका गांधी 3 दिन तक भारत जोड़ो यात्रा में हैं। वे अंबेडकर नगर महू तक यात्रा में रहेगी। महू में 26 नवंबर को सभा होनी है।