• nationbuzz3

केंद्रीय राज्य मंत्री बीएल वर्मा ने किया कछला घाट पर आरसीसी शेड का शिलान्यास


बदायूं। राज्यसभा सांसद, भारत सरकार में सहकारिता एवं उत्तर पूर्वी क्षेत्र के केंद्रीय राज्य मंत्री बीएल वर्मा ने बिल्सी विधायक हरीश शाक्य, जिलाधिकारी दीपा रंजन एवं मुख्य विकास अधिकारी ऋषि राज की मौजूदगी में सांसद निधि योजना वर्ष 2022-23 के अंतर्गत स्वीकृत गंगा आरती स्थल कछला बदायूं पर कल्याण सिंह(पूर्व मुख्यमंत्री ,उत्तर प्रदेश) की स्मृति में आरसीसी शेड का निर्माण कार्य का नारियल फोड़कर एवं पूजा अर्चना कर शिलान्यास किया।


बीएल वर्मा ने कहा कि मेरा गांव भी कछला घाट से लगा हुआ है। मैं गांव से कछला में ही पढ़ने आता था। पिताजी ने कक्षा आठ में हमें साइकिल दिलवाई थी। तब तक मैं 12-13 किलोमीटर प्रतिदिन पैदल आता और जाता था। उन दिनांक मैं यहां गंगा जी में प्रतिदिन सुबह शाम दो बार डुबकी जरुर लगाता था। मैं नल से नहीं नहाता था। मैं स्पष्ट रूप से कह सकता हूं कि मेरे यहां तक पहुंचने में गंगा मैया की विशेष कृपा और आशीर्वाद मेरे ऊपर रहा है।


इसके अलावा बदायूँ की जनता को बहुत जल्द दिल्ली और लखनऊ के लिए सीधी ट्रेन भी मिलने वाली है। तत्कालीन डीएम दिनेश कुमार सिंह ने आरती का शुभारंभ कराया था और वर्तमान डीएम दीपा रंजन ने इस कार्य को आगे बढ़ाने का कार्य किया है। 3 महीने के भीतर आरसीसी का शेड यहां बनकर तैयार हो जाएगा जिसे बरसात एवं सर्दी के दिनों में आरती में व्यवधान उत्पन्न ना होगा। लेकिन हम यहां रुकने वाले नहीं हैं इसके बाद भी अगर जरूरत पड़ेगी तो हम अपनी राज्यसभा निधि का भी प्रयोग करके विकास कार्यों को कराएंगे।


हरीश शाक्य ने कहा कि बहुत हर्ष की बात है कि मंत्री जी के नेतृत्व में हमें इस क्षेत्र में कार्य करने का अवसर मिला है। जब भी मुख्यमंत्री जी से मिलने जाते हैं तो उनसे गंगा मैया के बारे में चर्चा होती है। हम सब मिलकर कछला के विकास के लिए कार्य कर रहे हैं ताकि जल्द से जल्द यह पर्यटन स्थल घोषित हो जाए। इसके लिए डीपीआर बनवा कर दिल्ली भेजी गई है बहुत जल्दी इस पर कार्य होना शुरू हो जाएगा। फिर कछला का यह क्षेत्र देश में बनारस की तर्ज पर भव्य गंगा आरती के लिए मशहूर हो जाएगा। अब यहां प्रतिदिन आरती होती है लोग अपना जन्मदिन एवं अन्य आयोजनों को यहां आयोजित करने आते हैं। इसी प्रकार से आगे भी अनेकों विकास के काम किए जाते रहेंगे।


डीएम ने कहा कि हम लोगों का सौभाग्य है कि मां गंगा के किनारे हमें काम करने का अबसर मिला है। मैं स्वयं को बहुत ही सौभाग्यशाली मानती हूं कि संयोग से मुझे अक्सर गंगा मैया के किनारे काम करने का मौका मिलता है चाहे कानपुर हो या हापुड़ हो या फिर अब बदायूं। यह मां गंगा का मेरे ऊपर आशीर्वाद ही है। मंत्रीजी एवं विधायक जी की पहल से जो कार्य किए जाने हैं उनको हम लोग आगे बढ़ाने का कार्य कर रहे हैं। जो भी क्षेत्र की आवश्यकताएं हैं उन्हें ध्यान में रखकर कार्य योजना बनाई जाएगी सभी के सुझाव उसमें आमंत्रित हैं।