• nationbuzz3

होम डिलीवरी से मिले राशन, डोर-टू डोर हो सर्वे कही से भी न मिले कोई शिकायत कमिश्नर


यूपी बदायूं। कमिश्नर बरेली ने जिले के देहात इलाकों में जाकर कोरोना को लेकर व्यवस्थायें परखीं हैं। कमिश्नर ने गंगा घाट पर जाकर शवों के अंतिम संस्कार को देखा तो वहीं विद्यालय में जाकर क्वारंटीन व्यवस्था को देखा है। वहीं खाद्यान वितरण को लेकर कोटेदारों के पेंच कसे। कि घर राशन की होम डिलीवरी की जाये और नियमित जांच के साथ सर्वे जारी रहे। जिससे कोरोना की चेन को तोड़ा जा सके।


मंगलवार को कमिश्नर बरेली आर रमेश कुमार ने डीएम दीपा रंजन, एसएसपी संकल्प शर्मा, सीडीओ निशा अनंत व अन्य संबधित अधिकारियों के साथ ब्लाक म्याऊं के गांव नवीगंज एवं गूरा बरेला पहुंचकर निरीक्षण किया। नवीगंज में कोई सक्रिय केस नहीं है और गूरा बरेला में सक्रिय केस हैं। कमिश्नर ने निर्देश दिए कि आशाओं को कोरोना वायरस के संबध में प्रशिक्षण दिया जाये। आशा, आंगनबाड़ी घर-घर जाकर डोर टू डोर सर्वे करें। कमिश्नर ने आंगनबाड़ी से पुष्टाहार एवं कोटेदार से खाद्यान वितरण के संबध में भी जानकारी ली। कोटेदार ने बताया कि 20 मई से मुफ्त खाद्यान बांटा जाएगा। कोटेदार को निर्देश दिए कि कोरोना संक्रमित के परिवारों को खाद्यान की होम डिलीवरी की जाए। उन्होंने निर्देश दिए कि गांवों में नियमित साफ-सफाई, फागिंग एवं सेनिटाइजेशन का कार्य होता रहे।


नबीगंज से निकलते ही स्कूल में पड़ा ताला


कमिश्नर के नबीगंज के स्कूल में मौजूद कोरोना संक्रमितों की मुलाकात की। जैसा अफसर दावा कर रहे हैं कि स्कूल में पांच संक्रमित रखे गये थे। कमिश्नर से उनके मुलाकात की। इस दौरान यहां भीड़ लगी रही। कमिश्नर के जाते ही स्कूल में ताला पड़ गया। दावा किया संक्रमित सही हो गये, सो घर भेज दिया।


अटैना गंगा घाट पहुंचे कमिश्नर


उसहैत। कमिश्नर ने गंगा के अटैना घाट पहुंचकर अंतिम संस्कार की व्यवस्थाओं की जानकारी ली। उन्होंने निर्देश दिए कि किसी भी शव को नदी में न बहाया जाए, अन्यथा कड़ी कार्रवाई की जाएगी। यदि कोई शव बहता हुआ नज़र आये तो उसको निकाल कर उसका दाह संस्कार किया जाए। इसके लिए लकड़ी की उपलब्धता रहे। इसकी निगरानी के लिए एक व्हाट्सएप गु्रप बनाया जाए। इसमें शवों के पानी में बहने से संबधित जानकारी आदान-प्रदान की जा सके।