• nationbuzz3

जिला अस्पताल में बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं और तीमारदारों से वसूली, विधायक के सामने हंगामा


यूपी बदायूं। शहर विधायक महेश गुप्ता समेत भाजपा के तमाम नेताओं के सामने बृहस्पतिवार को जिला अस्पताल प्रशासन की किरकिरी हो गई। यहां रोगियों के कुछ तीमारदारों ने अस्पताल स्टाफ पर वसूली का आरोप लगाते हुए शहर विधायक से शिकायत की और कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा भी कर दिया। सीएमएस डॉ. विजय बहादुर राम ने जांच कराकर कार्रवाई का भरोसा देकर तीमारदारों को शांत कराया।


जिला अस्पताल कई बार रोगियों और उनके तीमारदारों के साथ मेडिकल मुआयना कराने आने वालों से वसूली को लेकर विवादों में रहता है। कई बार वसूली संबंधी वीडियो भी वायरल हो चुके हैं। बृहस्पतिवार को भाजपा जिलाध्यक्ष राजीव गुप्ता, शहर विधायक महेश गुप्ता, चेयरमैन दीपमाला गोयल, भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष अमिता उपाध्याय स्थापना दिवस पर जिला अस्पताल में रोगियों को फल वितरण करने पहुंचे थे। इसी दौरान रोगियों के कई तीमारदार विधायक के पास पहुंच गए और इलाज के बदले जिला अस्पताल स्टाफ पर वसूली का आरोप लगाने लगे। इससे अस्पताल प्रशासन और सीएमएस डॉ. विजय बहादुर राम सकते में आ गए।


तीमारदारों ने बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं और इसके बदले भी वसूली का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। इस पर सीएमएस डॉ. विजय बहादुर राम ने जांच कराकर उनको शांत कराया। यह भी पूछा कि किस कर्मचारी ने रुपये लिए, लेकिन कोई कर्मचारी का नाम नहीं बता सका। जिला अस्पताल प्रशासन मौके पर किसी तरह से मामला रफा-दफा करने में कामयाब हो गया, लेकिन माना जा रहा है कि अस्पताल में रोगियों से वसूली का प्रकरण अब शासन तक पहुंच सकता है। इसके बाद कुछ जिम्मेदारों पर कार्रवाई भी तय है।

-

शहर विधायक के सामने रोगियों के कुछ तीमारदारों ने वसूली का आरोप लगाया था। हंगामे जैसी कोई बात नहीं है। मैनें मौके पर स्टाफ को भी बुलाया, तीमारदारों से रुपये मांगने वाले कर्मचारियों के बारे में मालूम किया, लेकिन वह बता नहीं सके। पूरे अस्पताल कैंपस में सीसीटीवी कैमरे लगे हैं। मामले में पड़ताल कराई जाएगी। वसूली में जो भी कर्मचारी दोषी पाया जाता है उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

-डॉ. विजय बहादुर राम, सीएमएस