• nationbuzz3

बदायूं मेडिकल कॉलेज में सात कोरोना पॉजिटिव की मौत, परिजनों के हंगामे के बाद गेट बंद कराया


यूपी बदायूं। राजकीय मेडिकल कालेज में भर्ती सात कोरोना संक्रमितों की मौत हो गयी। संक्रमितों की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा किया तो मेडिकल कालेज प्रशासन को गेट बंद कराकर फोर्स लगानी पड़ी है। जिले से कोरोना के गंभीर मरीज एवं ऑक्सीजन रेट कम वाले मरीजों को बाहर रेफर करना शुरू कर दिया गया है। राजकीय मेडिकल कालेज में ऑक्सीनज की बेहद कमी है और बेड फुल हो गये हैं।


बदायूं राजकीय मेडिकल कालेज में मंगलवार को कोरोना के सात मरीजों की मौत हो गयी। सुबह-सुबह सात लोगों की मौत का कारण परिजनों ने पूछा तो अस्पताल प्रशासन ने जवाब नहीं दिया। वहीं ऑक्सीजन कमी का मुद्दा चल रहा था, परिजनों को लगा ऑक्सीजन की कमी से मौत हुई। जिस पर परिजनों ने जमकर हंगामा काटा। हंगामा को देखकर अस्पताल प्रशासन ने पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों को सूचना दी। इसके बाद पहुंची पुलिस ने गेट बंद करा दिया और यहां मौजूद लोगों को बाहर कर दिया है। जानकारी पर दोपहर में सीडीओ निशा अनंत ने जाकर स्थिति को देखा और व्यवस्था की जानकारी ली। अस्पताल प्रशासन ने एक-एक कर सातों शवों को परिजनों को उपलब्ध कराया है जिसके बाद कछला गंगा घाट पर कोरोना के शवों का अंतिम संस्कार कराया है।


राजकीय मेडिकल कॉलेज के डॉ. आरपी सिंह ने बताया ऑक्सीजन का कोई बेड खाली नहीं हैं। ऑक्सीजन के 92 मरीजों को रखने की क्षमता थी, वर्तमान में 103 रखे हैं। वहीं सामान्य कोरोना मरीज सहित कुल 120 मरीज भर्ती हैं। ऑक्सीजन उपलब्ध न होने की वजह से बेड नहीं बढ़ाये जा रहे हैं।


राजकीय मेडिकल कॉलेज के चिकित्सा अधीक्षक डॉ. सीपी सिंह ने बताया, मेडिकल कालेज में ऑक्सीजन के बेड फुल हैं, सात कोरोना संक्रमितों की मौत हुई है। ऑक्सीजन की कमी हुई थी लेकिन तब तक गाड़ी आ गयी। ऑक्सीजप की कमी से किसी की मौत नहीं हुयी है। ऑक्सीजन की व्यवस्था को प्रयास से चला रहे हैं। बेड फुल हैं और परिजनों ने विरोध किया था तो फोर्स बुलाकर गेट बंद कराना पड़ा था।