• Nationbuzz News Editor

समाजसेवी खिसाल उद्दीन ने परिवार से शोक संवेदना व्यक्त की, लेखपाल के विरुद्ध कार्यवाही करने की मांग


बदायूं। गांव मुईउदीपुर में विगत दिनों में प्रहलादपुर के सरकारी सलाहकार की मनमानी के चलते तेज धूप व लाइन में लगे-लगे चक्कर आने से गिरने पर मौके पर ही मौत हो गई थी। इस मामले में समाजसेवी खिसाल उद्दीन द्वारा ग्राम मुईउदीपुर पहुंचकर घटना की जानकारी ली व हाल-चाल जाना, मौके पर पहुंचकर ज्ञात हुआ कि घटना से आज तक लेखपाल द्वारा कोई सहायता पीडित परिवार द्वारा दिए जाने पर हस्ताक्षर नहीं किया गया है। पीडित के घर की कच्ची दीवारे शौचालय में यह बात को स्पष्ट करती है कि शौचालय मुक्त योजना केवल कागजों तक ही सीमित है।


मृतका शमीम बंस के पति मैकू से मिली जानकारी के अनुसार उनके दो बच्चे है एक लडका जिसकी उम्र 8 साल है और एक पुत्री जिसका उम्र 6 साल है। पीडित परिवार में महज 03 है घटना के बाद से स्थानीय पुलिस द्वारा किसी प्रकार की कोई विवेचना आदि नहीं की गई है पोस्टमार्टम के बाद जानकारी की जा रही है कि मामला में प्रशासन कार्यवाही से क्यों हिचक रहा है। खिसाल उद्दीन ने प्रदेश के मुख्यमन्त्री सहित जिलाधिकारी से आवश्यक कार्यवाही करने व पीडित परिवार को सरकारी सहायता प्रदान व उक्त घर में अभी तक शौचालय न बनाए जाने पर संबंधित विभाग के अधिकारियों और लेखपाल के विरुद्ध कार्यवाही करने की मांग है।

इस मौके पर जिया अनसारी, गुडडू भाई, राम सिह आदि मौजूद थे।