डीएम के सख्त निर्देश भड़काऊ पोस्ट से बचे सोशल मीडिया पर बरतें सावधानी वरना जेल


बदायूं। सोमवार को जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त एवं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने उझानी एवं कछला पहुँचकर लाॅकडाउन का निरीक्षण किया। उन्होंने लोगों से अपील की है कि शिक्षित और मौजिज़ लोग सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट शेयर करने वालो को समझाएं कि सोशल मीडिया पर कुछ भी शेयर करते समय सावधानी बरतें, सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट शेयर न करें, वरना जेल जाने की नौबत आ सकती है और भविष्य खराब हो सकता है। जिले की गंगा-जमनी तहजीब किसी भी दशा में खराब नहीं होनी चाहिए। कोरोना एक बहुत ही खतरनाक महामारी है, इससे मिलकर लड़ना है। घर में रहकर आप खुद को और अपने अज़ीजों को इस बीमारी से बचा सकते हैं। अहतियात बहुत ज़रूरी है, घर में रहकर ही इस बीमारी की ज़द में आने से बच सकते हैं। बच्चों और बुजुर्गाें को घर से बाहर बिल्कुल भी न निकलने दें, बहुत ज़रूरी होने पर बाहर निकला जाए, बार-बार हाथों को सैनेटाइज़र एवं साबुन से धोते रहे। बात करते समय एक मीटर का फासला बनाए रखें, मास्क से मुंह ढकें, बाहरी एवं विदेश से आए लोगों से दूरी बनाए रखें तथा इस बीमारी से बचने के लिए बताए गए सभी निर्देशों का पूर्णतया पालन करें। सेवाभाव से चिकित्सकों के लिए दी पीपीई किट-कोरोना महामारी के विरुद्ध लड़ रहे स्वास्थ्य विभाग बदायूँ के डाक्टर्स को नईमुल हसन उर्फ लड्डन मियाँ नेे पी0पी0ई0 (पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट) किट स्वंय तैयार कराकर समाज सेवा भाव से जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त एवं मुख्य चिकित्साधिकारी यशपाल सिंह को सौंपी हैं। लड्डन मियाँ ने बताया कि बदायूँ के डाक्टर्स इस कोरोना महामारी के बीच अपनी जान की परवाह किये बगैर दिन रात एक कर स्वास्थ्य सेवाएं दे रहे हैं अगर उनको और भी किट की जरुरत पड़ेगी तो वह भी तैयार कराकर दी जाएंगी। इस अवसर पर डॉ नूरुल हसन मौजूद रहे।