अखिलेश यादव ने कहा, ट्रेन से लाए गए श्रमिकों से पैसा लेना बेहद शर्मनाक, कोविड केयर फंड पर भी सवाल


यूपी। लखनऊ. समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने केंद्र और राज्य की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है. उन्‍होंने कहा कि ट्रेन से वापस घर लाए जा रहे मजदूरों से पैसे लिए जाने की खबर बेहद शर्मनाक है. उन्होंने ट्वीट कर कोविड केयर फंड पर भी सवाल उठाया और कहा कि अगर गरीबों से ही पैसे लेने थे तो फंड में जो खरबों रुपया डलवाया गया है, उसका क्या होगा? उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि यूपी में भी आरोग्य सेतु एप से 100-100 रुपए वसूले जाने की खबर है। अखिलेश यादव ने रविवार सुबह एक के बाद एक दो ट्वीट किए. उन्होंने पहले ट्वीट में लिखा, 'ट्रेन से वापस घर लाए जा रहे गरीब, बेबस मज़दूरों से भाजपा सरकार द्वारा पैसे लिए जाने की ख़बर बेहद शर्मनाक है. आज साफ़ हो गया है कि पूंजीपतियों का अरबों माफ़ करनेवाली भाजपा अमीरों के साथ है और गरीबों के ख़िलाफ़. विपत्ति के समय शोषण करना सूदखोरों का काम होता है, सरकार का नहीं। दूसरे ट्वीट में उत्‍तर पदेश के पूर्व सीएम ने लिखा, 'अब तो भाजपा के आहत समर्थक भी यह सोच रहे हैं कि अगर समाज के सबसे ग़रीब तबके से भी घर भेजने के लिए सरकार को पैसे लेने थे, तो तरह-तरह के फंड में जो खरबों रुपया तमाम दबाव व भावनात्मक अपील करके डलवाया गया है, उसका क्या होगा?