• nationbuzz3

प्रदेश में सात माह बाद स्कूल खुल गए है, पैरेंट्स की परमिशन लेकर स्कूल पहुंचे बच्चे


यूपी। प्रदेश में सात माह बाद सोमवार से स्कूल खुल गए। कोविड-19 संक्रमण के चलते 13 मार्च से स्कूल बंद थे। अभी कक्षा 9 से 12 तक की कक्षाओं के संचालन की अनुमति सरकार दी गई है। सुबह 8:50 बजे से दोपहर 11:50 बजते तक कक्षा एवं 10 और 12:20 से 3:20 बजे तक कक्षा 11 और 12 की कक्षाएं चलाई जाएंगी। आज पहले दिन सीमित संख्या में छात्र स्कूल पहुंचे। इन बच्चों को स्कूल भेजने की सहमति उनके अभिभावकों ने दी थी। बच्चों ने कहा कि जो पढ़ाई स्कूल में हो सकती है, वो वीडियो कॉल या ऑनलाइन संभव नहीं है। स्कूल खोलने का निर्णय अच्छा है। इस दौरान बच्चे अपने-अपने दोस्तों से मिलकर काफी उत्साहित नजर आए। राजधानी लखनऊ के दो स्कूलों की रिपोर्ट।


मास्क में नजर आए बच्चे


सीतापुर रोड स्थित मड़ियांव में बाल निकुंज इंटर कॉलेज एक सरकारी स्कूल है। यहां आने वाले बच्चे मास्क में नजर आए। वहीं, स्कूल प्रशासन ने पूर्व में ही परिसर व कक्षाओं की साफ-सफाई करा ली थी। सैनिटाइजेशन भी कराया गया। सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखते हुए सुबह बच्चों को स्कूल परिसर में एंट्री दी गई।


हाथों को सैनिटाइज करने के बाद मिली एंट्री


स्टेशन रोड स्थित सिटी मांटेसरी स्कूल में थर्मल स्कैनिंग करने के बाद बच्चों से उनके अभिभावकों की अनुमति पत्र को जांचा गया। इसके बाद ही छात्र स्कूल में एंट्री पा रहे थे। इस दौरान 4-5 बच्चे बिना अपने अभिभावकों की परमिशन के बगैर पहुंचे थे तो उन्हें वापस घर भेज दिया गया। बच्चों ने कहा कि उनके अभिभावकों में कोरोना के संक्रमण को डर जरूर है। लेकिन डर से कब तक यूं ही घर पर रहेंगे। हमें सावधानी बरतनी होगी।


छात्र बोले स्कूल आना अच्छा लगा, कोरोना ने धैर्य रखना सिखाया


छात्र मोहम्मद जाकिर ने कहा कि सात महीने के बाद स्कूल आना मुझे बहुत अच्छा लग रहा है और क्लासेस शुरु हो गई हैं। ऑनलाइन क्लासेस से कहीं न कहीं कंफ्यूजन दूर नहीं हो पाता है। स्कूल आने से बहुत अच्छा फील हो रहा। कोरोना महामारी में मैंने धैर्य रखना सीखा।


13 मार्च को कोरोना के चलते यूपी में बंद किया गया था स्कूल

अभी कक्षा 9 से 12वीं तक की कक्षाएं चलाने की अनुमति, दो पालियों में चलेगी कक्षाएं।

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube