• nationbuzz3

Teachers' Day 2022: शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए शिक्षक सम्मानित


यूपी बदायूं। बेसिक एवं माध्यमिक शिक्षा के तत्वावधान में शिक्षक दिवस के अवसर पर जनपद स्तरीय शिक्षक सम्मान समारोह का भव्य आयोजन पूनम लॉन में किया गया। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि बदायूँ सांसद डॉ0 संघमित्रा मौर्य ने सदर विधायक महेश चन्द्र गुप्ता, दातागंज विधायक राजीव कुमार सिंह, नगर पालिका अध्यक्षा दीपमाला गोयल के साथ शिक्षकों को सम्मानित किया। शिक्षक दिवस के अवसर पर लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम का सजीव प्रसारण दिखाया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ मां सरस्वती की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर एवं दीप प्रज्वलित कर किया गया। विद्यालयों के कायाकल्प और शिक्षा व्यवस्था में अच्छा कार्य करने वाले अन्य शिक्षकों को सम्मानित किया गया।


सांसद डॉ0 संघमित्रा मौर्य ने कहा कि जब से भारतीय जनता पार्टी की सरकार आई है सरकारी स्कूलों पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है प्राइवेट स्कूलों की तरह सरकारी स्कूलों के बच्चे अच्छी ड्रेस व अच्छे स्कूलों में जाकर अच्छी जगह बैठे इसके लिए व्यवस्थाएं हमारी सरकार ने की है और इस व्यवस्था में हमारा बदायूं जिला नंबर वन रहा है। जब जीर्णोद्धार की चर्चा हो रही थी और उत्तर प्रदेश के टॉप स्कूलों की लिस्ट जारी होती है तो हमारे बदायूं का आमगांव भी प्रथम नंबर पर दर्ज होता है। हमें आज भी अपने गुरु का संरक्षण समय समय पर प्राप्त होता रहता है यह हमारे लिए बहुत गौरव की बात है।


डीएम ने कहा कि जब भी अपने गृह जनपद जाने का अवसर प्राप्त होता है तो मेरी इच्छा रहती है कि मैं अपने शिक्षकों से जाकर मिलूं। जब उनसे मिलना होता है तो उसके किसी भी इंसान के जीवन में दो महत्वपूर्ण चीजें होती हैं यदि वह समय से ना मिले तो उसकी पूर्ति कभी नहीं की जा सकती है बचपन में जिस बच्चे को टीका या न्यूट्रीशन अथवा शिक्षा मिलना होता है अगर वह समय पर ना मिले तो पूरे जीवन उसको बहुत ही दिक्कत का सामना करना पड़ता है शिक्षा से मेरा तात्पर्य किताबों की पढ़ाई से नहीं है शिक्षा से मेरा तात्पर्य उसके व्यक्तित्व एवं संस्कारों के विकास से है। यदि परीक्षा में कोई बच्चा अच्छे अंक नहीं ला पाता है और उसके अंदर जिज्ञासा है तो वह अपने भविष्य में अपना मुकाम हासिल करेगा। इसलिए अपने बच्चों को अच्छे विचार दें उनका व्यक्तित्व अच्छा बनाएं उनको महापुरुषों की जीवनियां एवं उदाहरण बताएं। बच्चों को पढ़ा तो सभी देते हैं लेकिन कुछ लोग ही सिखा पाते हैं। डीएम ने जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ प्रवेश कुमार एवं बेसिक शिक्षा अधिकारी आनंद प्रकाश शर्मा को निर्देश दिए हैं कि व्यवस्थाएं बेहतर करने के उद्देश्य से विद्यालयों में अच्छा कार्य करने वाले शिक्षकों को सम्मानित करने के कार्यक्रम प्रतिमाह आयोजित किए जाते रहें।


सदर विधायक महेश चन्द्र गुप्ता ने कहा कि जितने भी लोग आज अच्छे मुकाम पर है उन्हें जड़ से खड़ा करने में जो मेहनत है वह शिक्षक की ही है। जब शिष्य अच्छे स्तर पर पहुंचता है तो सबसे ज्यादा खुशी उसके गुरु को ही होती है। जिस प्रकार से सरकार की योजनाएं चल रही हैं, तो निश्चित ही भारत विश्वगुरु जरूर बनेगा। अब ऐसा लगता है कि सतयुग आ गया है। जब मोदी जी और योगी जी चिंतित हैं कि हमारे देश की कैसे तरक्की हो, तो जरूर इस देश का भाग्य बदलेगा। अच्छा सोचो-अच्छा होगा, आज नहीं तो कल होगा। हम सब जो बोलते हैं, वह इसी ब्रहमाण्ड में गूंजता है। जब हम और आप अच्छा सोचेंगे तो निश्ंचित ही अच्छा होगा। आपने जब अच्छा सोचा तभी भारत का डंका विश्व में बज रहा है।

दातागंज विधायक राजीव कुमार सिंह ने कहा कि शिक्षक समाज का पथ पृथक होता है समाज को नई दिशा देने का काम उसकी जिम्मेदारी भी शिक्षक के कंधों पर होती है। जिस देश के शिक्षक ईमानदारी निष्ठा समर्पण भावना से शिक्षा देने का काम करते हैं उस देश को विकसित होने से कोई रोक नहीं सकता एक पिता एवं शिक्षा के ही वह व्यक्ति होता है जो चाहता है कि मेरा बेटा या बेटी अथवा शिष्य मुझसे भी आगे जाए शिक्षक यदि अपने पर अड़े जाए तो स्कूलों को श्रेष्ठ स्कूल बनाने का कार्य कर सकता है।


नगर पालिका अध्यक्ष दीपमाला गोयल ने शुभकामना देते हुए कहा कि उससे बड़ा कोई नहीं होता। गुरु चाहे किसी भी रुप में हो वह गुरु ही होता है। हम आज गुरुओं के द्वारा ही यहां उपस्थित हैं। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी ऋषिराज एवं पूर्व विधायक प्रेम स्वरूम पाठक सहित अन्य शिक्षकगण मौजूद रहे।