• Nationbuzz News Editor

बंदिशें हटी तो लोग ज़रूरत का सामान लेने बाज़ारों पहुंचे, जो मास्क लगाकर न आए, उसे सामान न दें

बदायूं। करीब दो महीने से लाकडाउन के बीच जारी सख्ती के बाद लाकडाउन 4 लोगों के लिए कुछ सहूलियतें लेकर आया है। कई जगहों पर दुकानोें को खोलने की छूट दी गई है, पर सामाजिक दूरी का प्रतिबंध लगाया गया है। पर, कुछ लोग ऐसे हैं जिन्हें सरकार की इन सहूलियतों के बीच सैर सपाटे और नियमों को तोड़ने का मानो मौका मिल गया है। कुछ यही हाल शहर में भी देखने को मिला।


छूट का उठाया लाभ, नियम भी रखा बरकरार

उधर, नेहरु चौक पर बहुत समय बाद एक साथ सभी दुकानें खुली। यहां सामाजिक दूूरी का पूरा ख्याल रखा गया। इन थोक की दुकानों पर एक एक कर लोगों को थोड़ी-थोड़ी देर बाद बुलाया गया और सामान उपलब्ध कराया गया। इससे यहां अव्यवस्था भी नहीं फैली। कुछ जगहों पर लोगों ने भीड़ लगाने की कोशिश हुई तो वहां दुकानदारों ने इन लोगों को स्वयं ही वहां से हटा दिया।


लॉकडाउन में डेढ़ महीने से कड़ी बंदिश झेल रहे शहर और सहसवान के लोगों के लिए अच्छी खबर है। शहर के जालंधरी सराय, सहसवान और भवानीपुर खल्ली मुहल्ले से अब बंदिशें हटा ली जाएंगी। हॉटस्पॉट होने की वजह से यहां के लोगों को किसी भी तरह की कोई छूट नहीं मिल रही थी। जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति के लिए होम डिलीवरी की व्यवस्था कराई गई थी।


सुबह नौ बजे से दोपहर दो बजे तक खुलेंगी दुकानें

लॉकडाउन के चौथे चरण में दुकानों को दो-दो दिन खोलने का दिन और समय का रोस्टर जारी कर दिया गया है। दुकानें खोलने का समय सुबह नौ बजे से दोपहर दो बजे निर्धारित किया गया है। किराना, सरिया-सीमेंट, कृषि से जुड़ी दुकानें, मेडिकल स्टोर नियमित खुलेंगे। नर्सिंग होम में इमरजेंसी सेवाएं और आपरेशन के लिए स्वास्थ्य विभाग से अनुमति लेना जरूरी होगा। जिलाधिकारी कुमार प्रशांत ने शारीरिक दूरी का कड़ाई से पालन कराने के आदेश देते हुए कहा है कि लॉकडाउन के प्रतिबंधों का उल्लंघन करने वालों से जुर्माना भी वसूल किया जाएगा।


सप्ताह में सोमवार से लेकर शनिवार तक छह दिन दुकानें खुलेंगी, जबकि रविवार को पूरे जिले में बंदी रहेगी। डीएम की ओर से जारी रोस्टर के अनुसार सोमवार और बृहस्पतिवार को साइकिल, ऑटोमोबाइल्स, इलेक्ट्रॉनिक्स, मोबाइल की दुकान, प्रिटिग प्रेस व ड्राइक्लीनर्स खोले जाएंगे। मंगलवार और शुक्रवार को ज्वैलरी, बर्तन, कास्मेटिक व चश्मों की दुकानें खुलेंगी। बुधवार और शनिवार को कपड़े की दुकान, रेडीमेड कपड़े, जूते की दुकान, टेलर की दुकान और फर्नीचर की दुकानें खोली जाएंगी। सभी दुकानों को खोलने का समय सुबह नौ बजे से अपराह्न दो बजे तक निर्धारित किया गया है। नियमित सब्जी, फल, दूध की भ्रमण कर बिक्री के लिए भी यही समय निर्धारित किया गया है। मेडिकल स्टोर तो पहले की तरह खुलेंगे, लेकिन नर्सिंग होम एवं प्राइवेट अस्पतालों को इमरजेंसी एवं आवश्यक ऑपरेशन के लिए स्वास्थ्य विभाग की अनुमति लेनी जरूरी होगी। मास्क, सैनिटाइजर, मोबाइल में आरोग्य सेतु डाउनलोड किया जाना अनिवार्य किया गया है। किराना की दुकान, प्रोविजनल स्टोर, अंडे की दुकान, सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान, स्टेशनरी, दवाओं की दुकानें, कृषि यंत्र, बीज, कीटनाशक की दुकानें, भवन निर्माण सामग्री, फोटो स्टेट, मैकेनिक, पटरी किनारे कारोबार करने वालों को भी सुबह नौ बजे से दो बजे तक ही अनुमति दी गई है। खुले में खाद्य वस्तुओं की बिक्री प्रतिबंधित की गई है। शादी में सिर्फ 20 लोगों की अनुमति


वैवाहिक आयोजन तो किए जा सकते हैं, लेकिन जिला प्रशासन ने इस तरह के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सिर्फ 20 लोगों की अनुमति दी है। इसी तरह अंतिम संस्कार में भी सिर्फ 20 लोगों के शामिल होने के लिए भी अनुमति दी गई है। इन पर जारी रहेगा प्रतिबंध


धार्मिक स्थल बंद रहेंगे। धार्मिक जुलूस भी नहीं निकाले जा सकेंगे। रेस्टोरेंट से सिर्फ होम डिलीवरी की सुविधा रहेगी। मिठाई की दुकानों से भी होम डिलीवरी की जा सकती है। पान, गुटखा की दुकानें बंद रहेंगी। सार्वजनिक स्थान पर धूम्रपान करने पर जुर्माना वसूला जाएगा।


वर्क फ्रॉम होम पर जोर


सरकारी कार्यालय, बैंक, वित्तीय संस्थान न्यूनतम जनशक्ति के साथ शारीरिक दूरी का पालन करते हुए खुलेंगे। कार्यस्थल पर सैनिटाइजेशन व फेस मास्क लगाने के साथ आरोग्य सेतु एप अनिवार्य किया गया है। किस दिन कौन सी खुलेगी दुकान


सोमवार व बृहस्पतिवार : साइकिल, आटो मोबाइल्स, इलेक्ट्रॉनिक्स, मोबाइल की दुकान, प्रिटिग प्रेस, ड्राई क्लीनर्स।

मंगलवार व शुक्रवार : ज्वैलरी, बर्तन, कॉस्मेटिक (सौंदर्य प्रसाधन) व चश्मों की दुकान।

बुधवार व शनिवार : कपड़े की दुकान, रेडीमेड कपड़े की दुकान, जूता की दुकान, टेलर की दुकान, फर्नीचर की दुकान। बाइक पर सिर्फ एक व्यक्ति को अनुमति


सुबह नौ बजे से अपराह्न दो बजे तक निजी वाहन का उपयोग किया जा सकता है। कार में ड्राइवर के अलावा दो लोगों के बैठने की अनुमति दी गई है। जबकि बाइक पर सिर्फ एक व्यक्ति को जाने की अनुमति दी गई है। पीछे किसी को बैठाने पर पहली बार में 250 रुपये, दूसरी बार में 500 रुपये, तीसरी बार में 1000 रुपये जुर्माना जबकि चौथी बार में लाइसेंस निरस्त कर दिया जाएगा। विशेष परिस्थिति में प्रशासन से अनुमति लेकर किसी को पीछे बैठाया जा सकता है। गांव में लगेंगे साप्ताहिक बाजार


शहर में कोई साप्ताहिक बाजार नहीं लगेगा, लेकिन गांवों में साप्ताहिक बाजार शारीरिक दूरी का अनुपालन कर लगाने की छूट दी गई है। लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने पर सौ रुपये से लेकर एक हजार रुपये तक जुर्माना वसूल किया जाएगा।