• Nationbuzz News Editor

गरीबों के हक पर डाका डाल रहा है म्यारी गांव का कोटेदार डीएम से कार्रवाई की मांग


बदायूं। गरीब परिवारों को हर माह खाद्वान्न मिले, इसके लिए केन्द्र सरकार ने खादय सुरक्षा अधिनियम योजना शुरु की थी। जिससे अंत्योदय और एपीएल कार्ड धारकों को भूखा न सोना पड़े। लेकिन न तो जिसके यूनिट कट गए है वह जिलापूर्ति कार्यालय में न केवल चढ़ रहे बल्कि दूरदराज़ से आकर लोग रोज़ाना कार्यालय के चक्कर काटते है लेकिन उन्हें सिर्फ मायूस होकर ही लौटना पड़ता है।


और इधर कोटेदार सरकार की इस महत्वाकांक्षी योजना पर फर्जीवाड़ा कर डाका डालने में लगे हैं। एक ऐसा ही चौकाने वाला मामला ब्लाक म्याऊं के गांव म्यारी में सामने आया है। जहां गांव के कोटेदार ने पात्र व्यक्ति के राशनकार्ड के यूनिट काटकर उसकी जगह किसी अन्य के नाम अंकित कर हर माह उनके हिस्से का राशन खुद डकार रहा है। पात्र कार्डधारक ने जिलाधिकारी को पत्र देकर पूरे मामले की जांच कराकर कोटेदार के विरुद्व कार्रवाई की मांग की है।


डीएम को भेजे अपने पत्र में कार्डधारक मेघपाल पुत्र पातीराम निवासी म्यारी ब्लाक म्याऊं ने कहा है कि उसकी पत्नी सत्यवती के नाम बने राशन कार्ड में सात यूनिट है। लेकिन कोटेदार नंदराम ने उक्त सभी यूनिट रामरती पत्नी विक्रम सिंह को कार्डधारक बनाकर दूसरे राशन कार्डधारक के नाम बदल दिया है। आरोप है कि समस्त यूनिटों का राशन रामरती का अंगूठा लगाकर दो साल से कोटेदार स्वंय निकाल लेता है। जब उसने कोटेदार से अपने राशनकार्ड के बारे में जानकारी ली, तभी कोटेदार आगबबूला हो गया और उसे व उसकी पत्नी के साथ अभ्रद व्यवहार करने हुए तरह-तरह की धमकी देने लगा। कार्डधारक के पति मेघपाल ने डीएम से कोटेदार की जांच कराकर कार्रवाई की मांग की है।

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube