• nationbuzz3

चोरी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़:बदायूं में चोरी दिल्ली जाकर बेचते थे माल; 3 गिरफ्तार, 5 फरार


यूपी बदायूं। पुलिस और एसओजी के संयुक्त अभियान में इलेक्ट्रॉनिक दुकानों में चोरी करने वाले गिरोह के तीन सदस्य पकड़े हैं। इनमें पिता पुत्र भी शामिल हैं। जबकि पांच सदस्य पुलिस को चकमा देकर भाग निकले। पकड़े गए आरोपियों के पास से भारी मात्रा में इलेक्ट्रॉनिक सामान समेत दो वाहन भी बरामद हुए हैं। एसएसपी डॉ. ओपी सिंह और एसपी सिटी प्रवीन सिंह चौहान ने प्रेस वार्ता के माध्यम से पूरे घटनाक्रम का अनावरण किया है।


आरोपियों ने कबूला कि स्कॉर्पियो से रैकी करके दुकानों को चिन्हित कर लेते थे। जबकि रात को उसके ताले तोड़कर सारा माल डीसीएम में लादकर उसे सीधे दिल्ली ले जाया जाता था और वहां पर माल को बेच देते थे। इस कृत्य में उनके साथ पांच अन्य लोग भी जुड़े हुए थे। उनके नाम भी आरोपियों ने पुलिस को बताए हैं और पुलिस उनकी तलाश कर रही है।


इन घटनाओं का पुलिस ने खुलासा किया


आठ दिसंबर की रात थाना कुंवरगांव क्षेत्र में चोरों ने बीज भंडार और साइकिल की दुकान का शटर काटकर वहां से माल पार कर लिया था। जबकि 12 दिसंबर की रात उझानी में इलेक्ट्रॉनिक सामान की दुकान से इंवर्टर, बैट्री और भारी मात्रा में तार भी चोरी हुआ था। इसके अलावा 28 दिसंबर की रात भी अलापुर में इंवर्टर-बैट्री की दुकान काटकर वहां से सामान चोरी किया गया था। घटनाओं के खुलासे के लिए एसएसपी ने संबंधित थानों की पुलिस के अलावा एसओजी टीम को भी जुटाया था।


आरोपियों के कब्जे से ये सामान बरामद हुआ


आलापुर में हुई गिरफ्तारी एसएसपी ने बताया कि आलापुर थाना क्षेत्र के ढाका गांव वाले मोड़ पर टीम ने कादरचौक थाना क्षेत्र के बेहटा डंबर गांव निवासी तारीख के अलावा अलापुर थाने के कस्बा ककराला निवासी सद्दाम और उसके बेटे तस्लीम को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से चोरी की 10 बैट्री, दो इंवर्टर, एक एलईडी, तार के छह बंडल, एक स्कॉर्पियो और एक डीसीएम के अलावा दो तमंचे व कारतूस बरामद हुए हैं।


सद्दाम है सरगना, सभी पर लगेगा गैंगस्टर


एसएसपी ने बताया कि इस आठ सदस्य यह गिरोह का सरगना सद्दाम है उसने अपने दो बेटों को भी ग्रुप में शामिल कर लिया है। फरार शातिर की तलाश की जा रही है। जल्द ही उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा। एसएसपी ने बताया कि सभी पर गैंगस्टर की कार्रवाई करेंगे। ताकि अधिक से अधिक जेल में रहकर उनमें सुधार आ सके।