• nationbuzz3

सांसद संघमित्रा बोलीं- प्रदेश और केंद्र की राजनीति में फर्क होता है, आवाज उठी तो समाधान भी होगा


यूपी बदायूं। सांसद डा. संघमित्रा मौर्य अपने पिता व भाजपा सरकार में श्रम, सेवायोजन एवं समन्वय मंत्री रहे स्वामी प्रसाद मौर्य द्वारा भाजपा पर लगाए गए आरोपों को नकार नहीं सकीं। उन्होंने कहा कि आवाज उठी है तो मोदी जी तक पहुंची है और इसका समाधान भी होगा। क्योंकि मोदी जी तक जो आवाज पहुंचती है उसका समाधान जरूर होता है।


दरअसल, डा. संघमित्रा मंगलवार को भाजपा सदर सीट से प्रत्याशी महेश चंद्र गुप्ता व बिल्सी प्रत्याशी हरीश शाक्य का नामांकन कराने उनके साथ कलेक्ट्रेट पहुंची थीं। वहां से लौटते वक्त मीडिया से रूबरू हुईं। उनसे पूछा गया कि पिता द्वारा सपा ज्वाइन करने के बाद भाजपा पर लगाए गए आरोपों पर सवाल दागा गया। उनसे पूछा गया कि भाजपा में दलित व पिछड़ों को सम्मान मिला है या नहीं।


इस पर उन्होंने कहा कि प्रदेश और केंद्र की राजनीति में जमीन आसमान का फर्क होता है। वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निर्देशन में काम कर रही हैं। निश्चित तौर पर जो आवाज उठी है वह मोदी जी तक भी पहुंची है और आने वाले समय में उसका समाधान निश्चित तौर पर होगा। क्योंकि प्रधानमंत्री तक जो भी आवाज पहुंचती है उसका सकारात्मक समाधान जरूर मिलता है। बता दें, स्वामी प्रसाद मौर्य ने कहा था कि पिछड़ों, किसानों, बेरोजगार नौजवानों और छोटे-लघु व मध्यम श्रेणी के व्यापारियों की घोर अपेक्षा की वजह से उन्होंने इस्तीफा दिया है।


अपर्णा यादव पर की टिप्पणी पर भी दी सफाई


पिछले दिनों फेसबुक पर मुलायम घराने की बहू अपर्णा यादव व अपने बारे को लेकर की गई टिप्पणी पर भी उन्होंने सफाई दी। कहा कि टिप्पणी के अंत में एक प्रश्नवाचक चिह्न भी लगा है कि बहन या बेटियों की भी धर्म या जाति होती है क्या। ये सवाल उन लोगों पर था जो घर पर बैठकर किसी पर भी टीका टिप्पणी कर देते हैं या सलाह दे देते हैं। ऐसे सलाहकारों व फेसबुकियों से सवाल था कि बहन बेटियों की जाति या धर्म होता है क्या।