• nationbuzz3

बदायूं में बैंक कर रही मनमानी कही पैसे निकलने में मुसीबत तो कही एटीएम गड़वड़ी


यूपी बदायूं। एक ओर गरीब जनता करोना महामारी की मार झेल रही तो उधर शहर में बैंक कर रही है मनमानी कही जगह पैसे निकलने में लोगों मुसीबत हो रही है तो कही एटीएम कार्ड कर रहे गड़वड़ी लोग परेशान है आपको बताते चले मंगलवार को शहर के इंदिरा चौक के पास स्थित बैंक ऑफ इंडिया में पैसे निकलने गए युवक ने जब एटीएम से पैसे निकाले तो अमाउंट कट गया और पैसे नहीं निकले घबराये युवक ने बैक जाकर शिकायत की तो बैंक के बहार लगे एटीएम ख़राब की बात निकली तब बैंक कर्मचारी ने सात दिन में पैसे वापस आने की बात कही है।


उधर एक ठेकेदार के खाते से दस लाख रुपये निकलने की जांच करने पहुंचे रोडवेज पुलिस चौकी प्रभारी से मंगलवार दोपहर कैशियर भिड़ गया। इससे बैंक में अफरा-तफरी मच गई। बाद में दारोगा ने सख्ती दिखाई तो कैशियर खामोश हो गया।


बीते दिनों सिविल लाइंस थाना क्षेत्र की आवास विकास कॉलोनी निवासी ठेकेदार ब्रजेंद्र सिंह के बैंक खाते से 10 लाख रुपये चेक से निकाल लिए गए थे। उस दिन ठेकेदार बैंक से पांच लाख रुपये निकालने पहुंचे थे, लेकिन कैशियर ने कह दिया था कि अभी कनेक्टिविटी नहीं आ रही है। काफी देर इंतजार करने के बाद ठेकेदार दूसरी बैंक में गए, तब तक उनके खाते में ढाई लाख रुपये डालकर 10 लाख रुपये निकाल लिए गए थे। इसकी जानकारी होते ही ठेकेदार के होश उड़ गए थे। उन्होंने मामले की तहरीर पुलिस को दी तो पुलिस ने मामला दर्ज करने के बाद जांच शुरू कर दी। मंगलवार को बैंक में मामले की जांच करने पहुंचे रोडवेज पुलिस चौकी इंचार्ज ने जब कैशियर से कैश निकलने की बात पूछी तो वह सही से जवाब नहीं दे सके। काफी देर तक की गई पड़ताल में वह पुलिस का सहयोग नहीं कर रहे थे। इसी बात पर पुलिस ने उनको सख्ती दिखाई। कैशियर ने दारोगा पर अभद्रता का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया, इससे बैंक में अफरा-तफरी मच गई। इस संबंध में एसएचओ सिविल लाइंस सुधाकर पांडेय ने बताया कि पूरे मामले में कैशियर की भूमिका संदिग्ध प्रतीत हो रही है। पुलिस जब जांच को बैंक में पहुंची तो कैशियर कोई सही जवाब नहीं दे रहा था। इसके बाद वह पुलिस पर अभद्रता का आरोप लगाने लगा। जबकि वहां पर मौजूद सभी लोग कैशियर की ही गलती बता रहे थे। मामले से उच्चाधिकारियों को अवगत करा दिया गया है।