• nationbuzz3

सिस्टम से परेशान बदायूं एसएसपी कार्यालय में खुद को आग लगाने वाले किसान की दर्दनाक मौत


यूपी बदायूं। रसूलपुर गांव निवासी किसान किशनपाल गेहूं की फसल जलने के बाद सरकारी सिस्टम से परेशान थे। बदायूं SSP ऑफिस के गेट पर उन्होंने आत्मदाह किया था। पुलिसकर्मियों ने बमुश्किल आग पर काबू पाया। उन्हें झुलसी हुई हालत में बरेली के निजी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। लेकिन, उन्होंने गुरुवार सुबह दम तोड़ दिया। IG बरेली रेंज रमित शर्मा ने इस मामले की जांच के लिए SIT गठित की है। इसका नेतृत्व SP सिटी बरेली कर रहे हैं। ताकि मामले में जिस स्तर के पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों का दोष निकले, उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सके। इस मामले में SHO समेत पांच पुलिसकर्मियों को बुधवार को ही सस्पेंड किया जा चुका है।


7 आरोपियों को पुलिस ने रात में ही हिरासत में लिया

IG बरेली रेंज रमित शर्मा ने बताया कि इस मामले की जांच के लिए SIT गठित की गई है। इसका नेतृत्व SP सिटी बरेली करेंगे। वह IPS रैंक के अधिकारी हैं। सभी पहलुओं को खंगालते हुए आगे भी कार्रवाई होगी। इधर, अब पुलिस ने आठ में से सात आरोपियों को रात में ही हिरासत में ले लिया है।


एसआईटी टीम करेगी मामले की जांच

मामले की जांच के लिए आईजी रेंज रमित शर्मा ने एसआईटी का गठन किया है। टीम में एसपी सिटी बरेली, एसपी ग्रामीण, एसपी सिटी बदायूं समेत अपराध शाखा के इंस्पेक्टर हैं। शर्मा ने बताया कि इस मामले में किसी पुलिस कर्मी की भी लापरवाही पाई गई तो उसके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।


किसान के नाम नहीं है जमीन, बंटाई पर है खेत

किसान किशनपाल के नाम खुद कोई जमीन नहीं है। उन्होंने जिस आठ बीघा खेत में गेहूं की फसल की थी, वह खेत शहर के एक कोल्ड स्टोर मालिक का है। उन्होंने उसे बंटाई पर लिया था। वह करीब चार-पांच साल से उस खेत में बंटाई पर फसल करते आ रहा था। गेहूं में आग लगने के बाद सारी फसल जलकर राख हो गई। खाने को अनाज का एक दाना तक नहीं बचा।