• nationbuzz3

प्रभारी मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने राजकीय मेडीकल काॅलेज का निरीक्षण किया


यूपी बदायूं। प्रदेश सरकार के पशुधन मत्स्य एवं दुग्ध विकास विभाग के कैबिनेट मंत्री एवं जनपद के प्रभारी मंत्री लक्ष्मीनारायण चौधरी ने नगर विकास राज्यमंत्री महेश चन्द्र गुप्ता, राज्यसभा सांसद बीएल वर्मा, जिलाधिकारी दीपा रंजन, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक संकल्प शर्मा, मुख्य विकास अधिकारी निशा अनंत, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 यशपाल सिंह सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य चिकित्सक व अधिकारियों के साथ मंगलवार को राजकीय मेडीकल काॅलेज का निरीक्षण किया।


यहां पहुंचकर उन्होंने टीकाकरण एवं ऑब्जर्वर रूम का जायजा लिया। उन्होंने निर्देश दिए कि चिकित्सक समय से अपनी ड्यूटी पर पहुंचे, जिससे कि ज्यादा से ज्यादा मरीजों का उपचार किया जा सके। कोरोना की तृतीय लहर की आशंका को दृष्टिगत रखते हुए राजकीय मेडिकल कॉलेज में 50 बेड का पीडियाट्रिक वार्ड (एनआईसीयू एवं पीआईसीयू) बनाया गया है, जहां कोविड-19 से संक्रमित होने वाले बच्चों का इलाज किया जाएगा, प्रभारी मंत्री ने इसका फीता काटकर उद्घाटन किया। कोविड-19 की तीसरी लहर से संक्रमित होने वाले बच्चों के परिजनों के बैठने के लिए प्रतिक्षालय भी बनाया गया है। बच्चों को भोजन कम्युनिटी किचन से उपलब्ध कराया जाएगा। कंट्रोल रूम के बाहर कोरोना संक्रमितों के स्वास्थ्य की एलईडी के माध्यम से अपडेट प्रदर्शित की जा रही है, जहां उनका टेंपरेचर, ब्लड प्रेशर एवं पल्स संबंधित जानकारी उपलब्ध है, प्रभारी मंत्री ने इसे भी देखा। यहां स्थित कंट्रोल रूम में जाकर उन्होंने सीसीटीवी स्क्रीन से व्यवस्थाओं का अवलोकन किया, वही आकस्मिक रूप से एक संक्रमित मरीज से वीडियो कॉल कर उसका हालचाल जाना एवं उसको प्रदान की जा रही व्यवस्थाओं के बारे में भी जानकारी ली।


तत्पश्चात उन्होंने मुख्यमंत्री के निर्देशन पर राजकीय मेडीकल काॅलेज में ऑक्सीजन प्लांट के किए जा रहे हैं निर्माण का भी निरीक्षण किया। कॉलेज के प्रधानाचार्य धर्मेंद्र गुप्ता ने अवगत कराया है कि आगामी दो-तीन दिनों के भीतर ऑक्सीजन प्लांट का शुभारंभ हो जाएगा, जिससे मरीजों के उपचार में काफी राहत मिलेगी। प्रभारी मंत्री ने राजकीय मेडिकल कॉलेज की व्यवस्थाओं को देखकर प्रशंसा की है, उन्होंने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमितों के लिए यहां पर्याप्त मात्रा में दवाएं, उपकरण एवं बेहतर सुविधाएं उपलब्ध हैं। यहां मरीजों की अच्छी देखभाल व उपचार किया जा रहा है।