• nationbuzz3

ताजदारे अहले सुन्नत हजरत सालिमुल कादरी का उर्स पूरी अकीदत के साथ शानों शौकत से मनाया गया


यूपी बदायूं। पीरों मुर्शिद हुजूर ताजदारे अहले सुन्नत फखरे कादरियत अब्दुल हमीद मोहम्मद सालिम उल कादरी बदायूंनी का पहला उर्स पूरी अकीदत के साथ पीर दरगाह आलिया कादरिया में मनाया गया। हुजूर ताजदारे अहले सुन्नत के पहले उर्स मुबारक के मौके पर अजीमुश्शान ताजदारे अहले सुन्नत कांफ्रेंस का भी एनीकात हुआ। जिसमें अमेरिका से आये डॉ. खुश्तर नूरानी, मरहारा शरीफ के मारहरा शरीफ के सज्जादा नशीन डॉ. हैदर मियां, दिल्ली से हजरत शाहिद मियां के अलावा देश की कई खानकाहों के सज्जादानशीन व शहजादगान ने शिरकत फरमाई।


खानकाह-ए-कादरिया के सज्जादानशीन क़ाज़ी ए जिला हजरत अतीफ मियां कादरी की सरपरस्ती में एक रोजा हजरत सालिमुल कादरी के उर्स की शुरुआत सोमवार सुबह नौ बजे महिफल में कुरान की तिलावत से शुरू हुई। इसके बाद नात एवं मनकबत असद मुईम, हन्नान कादरी, मुजाहिद आदि ने पेश की। इस दौरान कलाम भी पेश किये गये। दरगाह पर पहुंचे जायरीनों एवं अकीदतमंदों ने गुल एवं चादरपोशी की। यह सिलसिला सुबह से लेकर देर रात तक जारी रहा। उर्स के बाहर लगी दुकानों से बच्चों एवं महिलाओं ने अपने जरूरत के सामान की खरीदारी की।


अल्लाह की बंदगी व इल्म के बिना इंसान अधूरा पीर के बताये गए रास्ते पर चला जाये, अतीफ मियां


दिन में महिफल संपन्न होने के बाद रात्रि में 10 बजे से कांफ्रेंस शुरू हुयी। ताजदारे अहले सुन्नत कांफ्रेंस में आये मरहारा शरीफ के सज्जादा नशीन नजीब मियां, डॉ. खुश्तर नूरानी, दिल्ली से हजरत शाहिद मियां के अलावा देश की कई खानकाहों के सज्जादानशीन व शहजादानशीन ने शिरकत फरमाई। अतीफ मियां क़ादरी ने तकरीर में कहा, देश दुनिया में हमारी इल्म ही काम आता है। इल्म के बिना इंसान अधूरा है। अल्लाह की बंदगी के साथ इल्म और दूसरों से मोहब्बत और हमदर्दी जताने से ही कौम आगे बढ़ेगी। बच्चों को तालीम दें। उन्हें बेहतर इंसान बनायें, अल्लाह ने भी यही कहा। कमजोर, मजलूमों की मदद करें। उर्स का कुल शरीफ के साथ समापन हुआ मुल्क और कौम की तरक्की के लिये सभी ने दुआयें खैर की।

Mohammad Zubair Qadri