• nationbuzz3

यूपी में सीनियर सिटीजंस का वैक्सीनेशन: 60 साल उम्र पार 22,500 लोगों को लगेगा टीका


यूपी। कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में आज उत्तर प्रदेश में वैक्सीनेशन का दूसरा चरण शुरू हो गया। इस चरण में 60 साल से ज्यादा और 45 साल से 60 साल तक के वे लोग जिन्हें गंभीर बीमारियां हैं, उनको शामिल किया गया है। जिनकी उम्र 1 जनवरी 2022 को 60 साल होगी, वे भी इस बार टीका लगवा सकते हैं। वैक्सीनेशन दोपहर 3 बजे तक चलेगा। इसके लिए को-विन 2.0 पोर्टल के साथ ही आरोग्य सेतु ऐप पर सुबह 9 बजे से रजिस्ट्रेशन शुरू हो गए हैं।


मुख्यमंत्री ने वैक्सीनेशन प्रक्रिया का जायजा लिया


मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राजधानी लखनऊ स्थित डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल अस्पताल में तीसरे चरण के वैक्सीनेशन का निरीक्षण किया। उनके साथ स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह भी थे। लखनऊ के CMO डॉक्टर संजय भटनागर ने बताया कि वैक्सीनेशन के लिए राजधानी में तीन सरकारी किंग जार्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय‚ डॉ. राम मनोहर लोहिया आयुर्विज्ञान संस्थान‚ श्यामा प्रसाद मुखर्जी सिविल अस्पताल व एक निजी अस्पताल (शेखर हॉस्पिटल) का चयन किया गया है। शेखर हॉस्पिटल में आम लोग पहली बार 250 रुपए का शुल्क देकर वैक्सीन लगवा सकते हैं। तीन सरकारी संस्थानों में वैक्सीनेशन निशुल्क किया जाएगा। राजधानी में पहले दिन 900 वैक्सीन लगाई जाएगी।


प्रदेश में 22,500 लोगों को लगेगी वैक्सीन


लखनऊ के डिप्टी CMO डॉ. एम के सिंह का कहना है कि अभी पहली बार पेड ट्रायल है। इसी कारण लाभार्थियों की संख्या कम है। अगली बार संख्या और बढ़ायी जाएगी। सरकार द्वारा अगली तारीखों की घोषणा जल्द होगी। पहले दिन प्रदेश के 75 जिलों में तीन-तीन टीकाकरण केंद्रों पर 100-100 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। इस तरह 225 केंद्रों पर पहले दिन 22,500 लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी।


ऐसे कर सकते हैं प्रक्रिया, ये ID होंगे मान्य


सबसे पहले Cowin पोर्टल के जरिए रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा। सरकार की तरफ से दिए गए पोर्टल के लिंक पर अपना रजिस्ट्रेशन कराने के बाद अगर लाभार्थी निजी अस्पताल में वैक्सीन लगवा सकता है।

इसके लिए स्टेट बैंक के अकाउंट में 150 रुपए ऑनलाइन जमा करने होंगे। बाकी बचे 100 रुपए उसे अस्पताल में जमा कराने होंगे।

रजिस्ट्रेशन के बाद लाभार्थी को मैसेज से सूचना दी जाएगी कि उसको किस दिन और कितने बजे वैक्सीन लगवाने जाना है।

सरकारी अस्पतालों में पहले से टीकाकरण चल रहा है। लेकिन निजी अस्पतालों में सरकार की ओर से सिर्फ वैक्सीन भेजी जाएगी।

वैक्सीन लगाने की पूरी जिम्मेदारी निजी अस्पताल की ही होगी।

राजधानी के केजीएमयू में 400‚ लोहिया में 300‚ सिविल में 100 वैक्सीनेशन होगा।

उम्र की पहचान के लिए आईडी कार्ड–आधार नंबर‚ ड्राइविंग लाइसेंस‚ हेल्थ केयर इंश्योरेंस स्मार्ट कार्ड‚ मनरेगा जॉब कार्ड‚ वोटर आईडी कार्ड‚ सांसद/विधायकों को दिए गए आईडी कार्ड‚ पैन कार्ड‚ बैंक/पोस्ट ऑफिस की पासबुक‚ पेंशन डॉक्युमेंट्स‚ सरकारी आईडी कार्ड आदि मान्य होंगे।

वैक्सीनेशन अभियान के प्रमुख अधिकारी डिप्टी सीएमओ डॉ. एम के सिंह का कहना है कि 250 रुपए में 150 रुपए वैक्सीन के तथा 100 अस्पताल का सर्विस चार्ज निर्धारित किया गया है।

150 रुपए आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के खाते में अस्पताल प्रशासन द्वारा जमा करने होंगे।

डॉ. सिंह ने बताया शेखर अस्पताल प्रबंधन द्वारा 15,000 रुपए की धनरााशि जमा करा दी गयी है।