• nationbuzz3

गांव में महिला को बरामद करने के नाम पर सिपाहियों पर 1500 रुपए लेने का आरोप


बदायूं । मामला बिल्सी थाना क्षेत्र के एक गांव का है जब एक युवक की महिला को दूसरा युवक भगा ले गया तो पीड़ित पति ने बिल्सी थाना पुलिस को प्रार्थना पत्र देकर कार्यवाही की मांग की जहां दो सिपाहियों ने पीड़ित से महिला को बरामद करने के नाम पर पीड़ित पति से पंद्रह सौ रुपए लिए लेकिन कोई कार्यवाही नहीं की अब पीड़ित अधिकारियों के चक्कर काट रहा है । थाना क्षेत्र के गांव बढ़नौमी निवासी नेमचंद पुत्र सुदामा की पत्नी आरती अपने दो बच्चों साथ घर में थी तभी क्षेत्र के गांव दिधौनी निवासी रिंकू पुत्र पोसाकी दिन मंगलवार को गांव पहुंचा और नेमचंद की पत्नी को भगा ले गया ।उस समय नेमचंद घर पर नहीं था जब वह शाम को घर लौटा तो नेमचंद की पत्नी घर से गायब थी। जहां नेमचंद की मां मोरकली और भाई हरपाल ने पूरी घटना नेमचंद को बताई जिसके बाद नेमचंद ने पत्नी को इधर उधर काफी ढूंढ़ने का प्रयास किया लेकिन वह कहीं नहीं मिली नेमचंद के द्वारा घरवालों से पूछने पर पता चला कि आरती अपने साथ दो छोटे छोटे बच्चे व नगदी व माल जेवर भी साथ ले गई।


जिसकी शिकायत जब नेमचंद ने प्रार्थना पत्र देकर बिल्सी थाना पुलिस से की । जहां थाने के सिपाही दानवीर व एक अज्ञात सिपाही नेमचंद से महिला को ढूंढने के लिए पैसों की व्यवस्था करने के लिए कहते रहे । जहां दोनों सिपाहियों ने मोटरसाइकिल में तेल डलवाने के नाम पर नेमचंद से 1500 रुपए ले लिए ।उसके बाद भी कोई कार्यवाही नहीं की जब नेमचंद शुक्रवार को जानकारी लेने थाने पहुंचा तो वही दोनों सिपाहियों ने पीड़ित नेमचंद को गंदी गंदी गालियां देकर थाने से भगा दिया और मारने पीटने को भी कहा । दुबारा थाने आना और कहीं शिकायत करने पर झूठे मुक़दमे में फंसाकर जेल भेजने की धमकी दी। जिसके बाद से ही पीड़ित परेशान घूम रहा है पुलिस उसकी एक भी नहीं सुन रही है। जहां नेमचंद ने पुनः शनिवार को सीओ बिल्सी को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है।

जिसपर सीओ बिल्सी ने एसएचओ को जांच के आदेश देकर पीड़ित को पुनः थाने भेजा तो दोनों सिपाहियों और कोतवाल के तेवर और तेज हो गए और पीड़ित को गालियां देते हुए दोनों सिपाही पीड़ित के पीछे पड़ गए जहां पीड़ित जान बचाकर थाने से भाग आया पीड़ित ने सोमवार को एसएसपी को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है।