• Nationbuzz News Editor

डीएम, एसएसपी ने हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों का किया भ्रमण गाइडलाइन का सख्ती से पालन कराने के निर्देश


बदायूं। डीएम एवं एसएसपी ने संयुक्त रूप से बिसौली स्थित हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों का भ्रमण किया। उन्होंने निर्देश दिए कि गाइडलाइन का सख्ती के साथ अक्षरशा अनुपालन सुनिश्चित कराया जाए। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही न बरती जाए। मास्क न पहनने के विरुद्ध दण्डात्मक कार्यवाही अमल में लाई जाए।

बुधवार को जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी के साथ बिसौली के हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों का भ्रमण किया। दोनों वरिष्ठ अधिकारियों ने लोगों से अपील की कि कोरोना वैश्विक महामारी से बचाव के लिए घरों में अधिक समय बिताएं। हाॅटस्पाॅट क्षेत्रों में किसी प्रकार की गतिविधि नहीं होगी। जरूरत की वस्तुएं होम डिलीवरी होती रहेंगी। निर्देशों का उल्लंघन करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। शारीरिक दूरी बनाए रखें। जरा सी लापरवाही जीवन के लिए घातक बन सकती है। अपना और अपने परिवार के लिए बताए गए नियमों का पूर्णतया पालन करें। फिजीकल डिस्टेंस का पालन खुद भी करें और दूसरों को भी कराएं, तभी इस महामारी से बचा जा सकता है। खांसते, छींकते समय मुंह को रूमाल व टिश्यू से ढकें। हाथों को समय-समय पर साबुन से धोते रहे या सेनीटाइज करें। मुंह ढकने के लिए मास्क, गमछा, तौलिया, दुपट्टा या रुमाल का प्रयोग ज़रूर करें।

15 जुलाई तक पूर्ण कराएं निर्माण कार्य: डीएम

डीएम ने बिसौली स्थित नवनिर्मित तहसील भवन का औचक निरीक्षण कर कार्यदायी संस्था पैकफेड के अभियन्ता को हिदायत दी कि 15 जुलाई से पूर्व सभी निर्माण कार्य और फिनीशिंग कार्य पूर्ण कराना सुनिश्चित किया जाए, जिससे 15 जुलाई को इसके उद्घाटन की औपचारिकता पूर्ण की जा सके।

बुधवार को जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी के साथ बिसौली में बनाए जा रहे तहसील भवन का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि खिड़कियों पर शीशे लगाने एवं पहुँच मार्ग का कार्य अविलम्व पूर्ण किया जाए। उद्घाटन की औपचारिकता के बाद इस भवन में तहसील कार्यालय स्थापित कर दिया जाएगा। कार्यदायी संस्था पैकफेड के जेई ने बताया कि लगभग 6 करोड़ 19 लाख रुपए की लागत से इस भवन का निर्माण कराया जा रहा है। इस भवन के निर्माण कार्य को दिसम्बर 2019 तक पूर्ण करना था, लेकिन कुछ परिस्थितियों के कारण यह भवन पूर्ण नहीं हो सका। अब जिलाधिकारी के निर्देशानुसार इस भवन को पूर्ण कर लिया जाएगा। इस अवसर पर उप जिलाधिकारी चन्द्र प्रकाश सरोज सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

सैनेटाइजर टनल का डीएम, एसएसपी ने किया उद्घाटन

बिसौली स्थित कोतवाली में भी सैनिटाइज़र टनल स्थापित कर दिया गया है। जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार त्रिपाठी ने बुधवार को फीता काटकर उद्घाटन किया।

सैनेटाइजर टनल को कोतवाली के कार्यालय के प्रवेश द्वार पर स्थापित किया गया है। डीएम, एसएसपी ने कहा कि चल रही वैश्विक महामारी कोविड-19 से बचाव के लिए यह आवश्यक है कि लोग साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दें, सैनेटाइजेशन होता रहे। कोतवाली एक सार्वजनिक स्थान है। यहां आने वाले कुछ लोगों में यदि संक्रमण हुआ तो इस सैनेटाइजर टनल से सैनेटाइज़ होने के बाद इसका संक्रमण दूसरो तक नहीं फैलेगा। बाहर से आने वाले प्रत्येक व्यक्ति का सैनेटाइजेशन का होना बहुत जरूरी है। इससे न केवल दूसरे व्यक्ति की सुरक्षा होगी, बल्कि संक्रमित व्यक्ति का संक्रमण भी कम हो सकेगा।

----

15045 किसानों से खरीदा गया 892006.60 कुन्तल गेहूँ

जिला खाद्य विपणन अधिकारी प्रकाश नारायण ने अवगत कराया है कि जनपद में गेहूॅ क्रय लक्ष्य 1220000 कुन्तल के सापेक्ष 15045 किसानों से 892006.60 कुन्तल गेहूॅ की खरीद की गयी है, जो जनपद के क्रय लक्ष्य का 73.12 प्रतिशत है तथा 883962.20 कुन्तल गेहूॅ भारतीय खाद्य निगम डिपो पर उतार भी करा दिया गया है। लाभान्वित किसानों को अभिलम्ब उनकी उपज का समर्थन मूल्य भी लगातार दिलाया जा रहा है।  

प्रचार वाहन डीएम ने हरी झण्डी दिखाकर किया रवाना

एक जुलाई से संचारी रोग नियंत्रण अभियान शुरू हो चुका है। जिलाधिकारी कुमार प्रशान्त ने संचारी रोग कार्यक्रम का औपचारिक रूप से उद्घाटन कर कार्य करने शुरूआत कर दी है।

बुधवार को डीएम ने जिला महिला चिकित्सालय स्थित मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय परिसर से अभियान के प्रचार प्रसार हेतु वाहन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। संचारी रोग नियंत्रण एवं दस्तक अभियान 01 जुलाई से 31 जुलाई तक चलेगा। अभियान की सफलता हेतु महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां ग्राम पंचायतों को दी गई है। इस अभियान का मकसद संक्रामक बीमारियों से होने वाली असमय मौतों पर रोक लगाना है। साफ-सफाई के अभाव में गंदगी के बीच जानलेवा बीमारियां पनपती हैं। ग्राम स्तर पर जन जागरुकता अभियान शुरू हो चुका है, जिसमें ग्राम स्तर पर साफ-सफाई, हाथ धोना, शौचालय की सफाई और घर से जल निकासी के लिए लोगों में प्रचार प्रसार किया जा रहा है। शुद्ध पेयजल की व्यवस्था के लिए गांवों में उथले हैंडपंपों को चिह्नित कर उनका प्रयोग रोका जाएगा। इनके स्थान पर इंडिया मार्क टू हैंडपंप का प्रयोग करने के लिए ग्रामीणों को प्रेरित किया जाएगा। आशा, एएनएम, आंगनबाड़ी वर्करों को उनकी जिम्मेदारियां निभाने में ग्राम प्रधान सहयोग करेंगे। प्रधानों को महत्वपूर्ण जिम्मेदारियां मिली हैं, जिनका निष्ठापूर्वक पालन करने की डीएम ने अपील की है। कार्यक्रम की निरंतर मानीटरिंग की जाएगी। संचारी रोग नियंत्रण माह के तहत मच्छर जनित रोगों से बचाव एवं संचारी रोग जैसे मष्तिक ज्वर, मलेरिया, चिकनगुनिया, डेंगू आदि को नियंत्रित करने की जानकारी दी जाएगी। डीएम ने संचारी रोग से बचाव के लिए स्वच्छता अपनाने व अपने आस-पास का वातावरण स्वच्छ रखने की अपील की। वह स्थान जहां पर मच्छर उत्पन्न होने की संभावना हो उस स्थान को नष्ट कर दें। गड्ढों में मिट्टी डाल दें अथवा गंदे पानी में जला हुआ मोबीआॅयल डाल कर मच्छरों की उत्पत्ति रोकी जा सकती है। इस अवसर पर बरेली मण्डल के संयुक्त निदेशक डाॅ0 जी0सी0 नोगोई, मुख्य चिकित्साधिकारी डाॅ0 यशपाल सिंह सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।


  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube