• nationbuzz3

जिले में 112 सेंटरों पर कल से शुरू होगी गेहूं खरीद, प्रशासन का दावा तैयारी पूरी


यूपी बदायूं। जिले में गेहूं की कटाई शुरू हो चुकी है। एक अप्रैल से 112 क्रय केंद्रों पर खरीद शुरू हो जाएगी। प्रशासन का दावा है कि क्रय केंद्र खोलने की तैयारी पूरी है। लेकिन, धरातल पर तैयारी कागजी ही दिख रही है। अभी लक्ष्य निर्धारित नहीं हुआ है। कहा जा रहा है कि सेंटर पर जितना गेहूं आएगा सब खरीदा जाएगा।


किसानों को उनकी उपज का उचित मूल्य दिलाने को गेहूं के समर्थन मूल्य में 50 रुपये की वृद्धि कर 1,975 रुपये क्विटल घोषित किया जा चुका है। पिछले साल 133 सेंटरों पर गेहूं की खरीद हुई थी। लेकिन, लक्ष्य के सापेक्ष 73 फीसद ही खरीद हो सकी थी। तब एक लाख 22 हजार मीट्रिक टन खरीद का लक्ष्य मिला था। माना जा रहा है कि इस बार पंद्रह फीसद तक लक्ष्य बढ़कर मिलेगा। हालांकि, अभी तक लक्ष्य आवंटित नहीं हुआ है। नए कृषि कानून को लेकर दिल्ली में किसानों का आंदोलन अब भी जारी है। निर्देश दिए गए हैं कि हर सेंटर पर कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिए सैनिटाजर, छाया, पानी, बैठने के इंतजाम किए जाएंगे। लेकिन, अभी तो तमाम सेंटरों पर कांटा-बाट और वारदाना ही नहीं पहुंच सके हैं।


पंचायत चुनाव में चुनौती बनेंगे बिचौलिया


जिले में कई बार प्रशासन गेहूं खरीद में बिचौलिया को पकड़ चुका है। राजनैतिक हाथ होने से हर वर्ष बिचौलिया हावी हो जाते हैं। वह गेहूं क्रय केंद्रों पर पहुंचने से पहले ही रास्ते में कम दामों पर तय करके गेहूं की खरीद कर लेते हैं। इस बार भी बिचौलिये प्रशासन के लिए चुनौती होंगे, क्योंकि पंचायत चुनाव होने के चलते अफसर इसकी तैयारियों में भी व्यस्त रहेंगे। हालांकि, दावा है कि बिचौलियों को किसी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। इनसेट ::


जल्द शुरू कराएं गेहूं खरीद


म्याऊं : खेत में गेहूं की कटाई के साथ मढ़ाई भी शुरू हो चुकी है। क्षेत्र के किसान बुधपाल, अंगनू, रक्षपाल, जितेंद्र का कहना है कि एक तारीख से गेहूं खरीद होने की बात कही जा रही है। लेकिन, सेंटर पर कोई इंतजाम नहीं है। उन्होंने डीएम से जल्द खरीद शुरू कराने की मांग की है। क्रय केंद्र प्रभारी म्याऊं राघवेंद्र ने बताया कि अभी तक विभाग से कोई सामान नहीं मिला है। सिर्फ एक अप्रैल से खरीद करने का आदेश मिला है।


आनलाइन पंजीकरण कराना अनिवार्य


सरकारी क्रय केंद्रों पर गेहूं बिक्री के लिए किसानों को आनलाइन पंजीकरण कराना अनिवार्य है। क्रय केंद्र पर किसान या उसके द्वारा नामित स्वजन ही गेहूं की तौल करा सकेंगे। किसान अपना पंजीकरण किसी भी जन सुविधा केंद्र पर करा सकते हैं। इसके लिए कंप्यूटराइज खतौनी, फाटोयुक्त पहचान पत्र, बैंक पासबुक और आधार कार्ड की जरूरत होगी। एसडीएम दातागंज पारसनाथ मौर्य ने बताया कि गेहूं का भुगतान किसानों के बैंक खाते में सीधे पहुंचेगा।


जिले में गेहूं का रकबा - 2.50 लाख हेक्टेयर


जिले में गेहूं उत्पादन का लक्ष्य - 41 क्विटल प्रति हेक्टेयर


जिले गेहूं क्रय केंद्रों की संख्या- 112


गेहूं खरीद का समर्थन मूल्य - 1,975 रुपये क्विटल वर्जन ::


जिले में एक अप्रैल से गेहूं खरीद की तैयारी पूरी है। लक्ष्य तो नहीं मिला है। लेकिन, जितना गेहूं सेंटर पर आएगा। सब खरीदा जाएगा। सेंटरों पर व्यवस्था करा दी है, जहां कमी है वहां पूरी कराई जा रही है।


प्रकाश नारायण, डिप्टी आरएमओ

  • Facebook
  • Twitter
  • YouTube
© Copyright ® All rights reserved Nation Buzz 2017 - 2020